सबसे बड़ा मूर्ख...

एक राजा ने अपने मंत्री को सोने का एक डंडा देकर कहा, 'जो व्यक्ति तुम्हें मूर्ख दिखाई दे, उसे यह थमा देना।' मंत्री डंडा लेकर चल पड़ा। बहुत तलाश के बाद उसे एक भोला-भाला व्यक्ति दिखाई पड़ा, जिसे मूर्ख समझकर मंत्री ने वह डंडा पकड़ा दिया।

मंत्री ने उससे कहा, 'यदि तुम्हें कोई अपने से ज्यादा मूर्ख मिले, तो उसे यह डंडा दे देना।' वह व्यक्ति भी अपने से ज्यादा मूर्ख की तलाश में स्थान-स्थान पर घूमता रहा पर उसे ऐसा कोई व्यक्ति न मिला। इस प्रकार भटकते हुए वह राजदरबार में पहुंचा।

उसने सोचा कि राजा का दर्शन किया जाए। उसे इसकी अनुमति मिल गई। जब वह राजा के पास पहुंचा तो उसने देखा कि राजा बीमार पड़े हैं। राजा ने उससे कहा, 'मेरा अंत समय आ गया है। अब मैं इस संसार को छोड़कर जा रहा हूं।' उस व्यक्ति ने पूछा, 'फिर आपकी सेना, हाथी-घोड़े, महल आदि का क्या होगा?'

राजा ने कहा, 'ये सब यहीं रहेंगे और क्या।' इस पर उस व्यक्ति ने कहा, 'उस धन-दौलत का क्या होगा, जिसे आपने बड़ी मेहनत से अनेक युद्धों में हासिल किया है?' राजा ने कहा, 'वे सब भी यहीं रहेंगे।'

यह सुनकर उस व्यक्ति ने सोने का वह डंडा राजा की ओर बढ़ाते हुए कहा, 'संभालिए इसे। मुझसे कहा गया था कि इसे मैं उस व्यक्ति को सौंपूं जो मुझे स्वयं से ज्यादा मूर्ख दिखाई दे। आप इसके योग्य पात्र हैं।

जब आपको पता था कि आपके साथ कोई भी चीज नहीं जाएगी तो आपने उन्हें हासिल करने के लिए अपना पूरा जीवन क्यों लगा दिया? इसके कारण कई लोगों की जानें तक आपने ले लीं।

क्या मिला आपको यह सब हासिल करके? मेरे विचार से इससे बड़ी मूर्खता दुनिया में कोई और नहीं हो सकती। इसलिए ये डंडा आप रखेंगे।' राजा अपने डंडे को देखकर हैरत में पड़ गया।

उसने मन ही मन सोचा कि वह वास्तव में सबसे बड़ा मूर्ख है।

Views: 39

Comment

You need to be a member of MumbaiRock to add comments!

Join MumbaiRock

Members

Blog Posts

ही फिल्मो के डायलाग इस प्रकार के होंगे ! मेरे करण-अर्जुन आयेंगे ; और दो किलो टमाटर लायेंगे. . . ये ढाई किलो के टमाटर जब आदमी लेता है ना ; तो आदमी उठता नहीं उठ जाता है. . . मेरे पास बंगला है गाड़ी है ब…

Posted by Ultimate Quoto on July 30, 2014 at 7:03am 1 Comment

ही फिल्मो के डायलाग इस प्रकार के होंगे ! मेरे करण-अर्जुन आयेंगे ; और दो किलो टमाटर लायेंगे. . . ये ढाई किलो के टमाटर जब आदमी लेता है ना ; तो आदमी उठता नहीं उठ जाता है. . . मेरे पास बंगला है गाड़ी है बैंक-बैलेंस है रुपया है पैसा है, तुम्हारे पास…

Continue

मुझे अब भी प्यार करना चाहिए ..

Posted by Nihal Singh on July 30, 2014 at 5:27am 0 Comments

मुझे अब भी प्यार करना चाहिए ।

मैं अपने आप को कोंचता हूँ…



Continue

Ayurvedic duha..आयुर्वेदिक दोहे...must read all

Posted by Nihal Singh on July 30, 2014 at 4:02am 0 Comments

Ayurvedic duha..आयुर्वेदिक दोहे



दही मथें माखन मिले,  केसर संग मिलाय, …

Continue

देख लेता हूँ पर्स में रखी तुम्हारी तस्वीर....

Posted by Nihal Singh on July 30, 2014 at 3:44am 0 Comments

जब थक जाती हैं बाँहें ख़ुद से दुगुना वज़न उठाते-उठाते

और कंधे मना कर देते हैं देने को संबल

लेकिन फिर…

Continue

ईश्वर और इन्टरनेट

Posted by Nihal Singh on July 30, 2014 at 3:35am 1 Comment

बाज़ार है सजा ईश्वर और इन्टरनेट दोनों का

ईश्वर और इन्टरनेट इक जैसे हैं



ईश्वर विश्वव्यापी है इन्टरनेट भी

कण-कण में समाए हुए हैं दोनों

हर…

Continue

Hum Apse Milne Ko....

Posted by Dilesh R Patel. on July 30, 2014 at 1:00am 0 Comments

www.lovelimes.com



Tare asman me chamkte hain

Badal itni dur hai fir bhi barste hain

Hum bhi kitne nadan…

Continue

Videos

  • Add Videos
  • View All

© 2014   Created by Salil Jain.   Powered by

Badges  |  Report an Issue  |  Terms of Service